ग्वालियर. रेलवे स्टेशन पर टे्रनों से यात्रा करने वाले दिव्यांगों के लिए आइआरसीटीसी द्वारा रेलवे को दी गई व्हील चेयर लिफ्ट सवा साल से पार्सल कार्यालय में धूल खा रही है। जबकि दिव्यांग यात्री ट्रेनों में बैठने के दौरान परेशान हो रहे हैं। इसके मिलने के बाद रेलवे ने पहले दिन में कुछ कुलियों को…

ग्वालियर। सामाजिक संस्था श्योपुर जेसीआई के तत्वावधान में प्रतिवर्ष आयोजित किया जाने वाले सतरंगी कार्यक्रम जेसी सप्ताह 2019 का आगाज 9 सितंबर को होगा। 15 सितंबर तक चलने वाले इस साप्ताहिक कार्यक्रम में जहां कई सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं होंगी, वहीं इस बार सोशल मीडिया से प्रसिद्धी पाने वाले डांसर डब्बू अंकल भी डांस दीवाने…

ग्वालियर। भगवान सूर्य के पुत्र शनि देव को न्याय का देव माना जाता है और इनका प्रभाव हर इंसान के जीवन और उसकी ग्रह चाल पर बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। शनिदेव किसी इंसान के जीवन और उसके द्वारा किए गए कर्मों पर नजर रखते है और उसके कर्मों के अनुसार शुभ फल भी देते…

ग्वालियर। ग्वालियर-चंबल अंचल के सबसे बड़े हॉस्पिटल जयारोग्य अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार नहीं हो रहा है। शुक्रवार को सडक़ पर घायल होकर बेहोश पड़ी महिला को अपनी कार से अस्पताल लेकर पहुंचे खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को भी इसका सामना करना पड़ा। जब वे पहुंचे तो अस्पताल में स्ट्रेचर मैन…

ग्वालियर. कारोबारियों ने तू डाल-डाल तो मैं पात-पात की तर्ज पर जीएसटी कानून का भी तोड़ निकाल लिया है। नियमों की आड़ का फायदा लेते हुए एक ही इ-वे बिल से तीन-तीन बार गुटखे और तंबाकू का परिवहन करने का काम खुलेआम जारी है और राज्य कर जीएसटी विभाग आंखे मूंदकर बैठा है। यहां बता…

ग्वालियर. फिंगर प्रिंट क्लोनिंग के जरिए सरकारी नौकरी लगाने का धंधा करने वालों का लिंक कोचिंग और स्कूल शिक्षकों से जुड़ता मिल रहा है। मुरैना इस फरेब का सेंटर बनकर सामने आ रहा है। दो साल में सिपाही भर्ती परीक्षा में फिंगर प्रिंट क्लोन के जरिए फर्जीवाड़ा करने में मुरैना के दो शिक्षकों के नाम…

ग्वालियर। पंचायतों में ऑनलाइन कर वसूली की प्रक्रिया लागू करने वाला ग्वालियर प्रदेश का पहला जिला बन गया है। पंचायतों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से एक सितंबर से जलकर की वसूली शुरू हो गई है। इस ऑनलाइन मॉड्यूल को जिला पंचायत ने एनआइसी मुख्यालय भोपाल के सहयोग से तैयार किया है। 20 पंचायतों में…

ग्वालियर। अक्सर यह देखा जाता है कि नाग-नागिन के जोड़े में से यदि नाग को मार दिया तो नागिन बदला लेने के लिए पीछा करते हुए घर आ जाती है। जबकि नागिन को मार दे तो नाग भी पीछा करते हुए घर आ जाता है। नाग नागिन की कई कहानियां हमने सुनी हैं और सभी…