ग्वालियर. घाटीगांव-भितरवार की सीमा से लगे दो गांव और तीन छोटे मजरों के लोगों ने जल संकट से परेशान होकर मेहनत की तो जमीन में 60 फीट पर ही पानी मिलने लगा। जबकि पिछले साल यहां भूमिगत जलस्तर 120 से 150 फीट पर था। चेकडैम आदि के लिए स्वीकृत हुए कामों को यहां के ग्रामीणों ने अपना समझकर किया तो यह गांव पानी से धनी होने लगे हैं। ग्रामीणों की मेहनत और प्रशासनिक स्तर पर तकनीकी मार्गदर्शन ने इन चारों जगह पर जलभराव की क्षमता 1 लाख 37 हजार घनमीटर तक पहुंचा दी है। इस पानी से आसपास की 70 हैक्टेयर से अधिक भूमि की सिंचाई हो सकेगी। लगभग सभी हैंडपंप रीचार्ज हो गए हैं और जिन कुओं में पानी नहीं था उनमें…

समाचार पत्र मैं पूरा पढ़ें

Leave a Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.