ग्वालियर. जीवाजी विश्वविद्यालय के सभी बड़े भवनों को प्राकृतिक ऊर्जा पर निर्भर करने के लिए मार्च में सोलर पैनल लगाने का काम शुरू होना था। पैनल लगाने वाली देश की विख्यात कंपनी अडानी ग्रुप ने बैंगलुरु से सामान भेज दिया, लेकिन जेयू ने यह पैनल लगाने के लिए अध्ययनशालाओं सहित अन्य भवनों की छतों पर रखवा दिए हैं। परीक्षा भवन हो या फिर दूसरे विभाग सभी जगह छतों पर सोलर पैनल का सामान लकड़ी के तख्तों में बंद है, जो बारिश में खराब हो रहा है।
जीवाजी विश्वविद्यालय में लगभग ८०० किलोवाट के सोलर पैनल लगाने के लिए प्लान बनाया गया था। इसको अमल में लाने के लिए अक्षय ऊर्जा विभाग ने पूरी…

समाचार पत्र मैं पूरा पढ़ें

Leave a Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.