ग्वालियर. प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज सिकरवार की बीच सडक़ पर हत्या करने में जो नाम गिनाए गए हैं, उनसे पंकज की दुश्मनी केवल के धंधे में गोली चलने से ठनी थी। बुधवार को दिनदहाड़े पंकज की हत्या के पीछे केवल के धंधे में पनपे बैर के अलावा 16 महीने पहले केवल कारोबारी अभिषेक तोमर की हत्या को भी वजह बताया जा रहा है। 20 फरवरी अभिषेक तोमर की हत्या की गई थी। अभिषेक की शोहरत हजीरा के कुख्यात गुंडे परमाल तोमर के जिगरी दोस्त की थी। पंकज का नाम उसकी हत्या करने वाले शूटर्स की फंडिंग में सामने आया था हालांकि जांच के बाद पुलिस ने पंकज को राहत दे दी थी।

उधर पंकज के परिजन का कहना है अभिषेक की हत्या…

समाचार पत्र मैं पूरा पढ़ें

Leave a Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.