ग्वालियर. स्वर्ण रेखा में साफ पानी बहाने और नाव चलाने के नाम पर 100 करोड़ से अधिक रुपए खर्च कर दिए गए, लेकिन न तो इसमें साफ पानी बहा, न नाव चली। बोट क्लब में नाव पड़े-पड़े खराब हो गईं। अब स्मार्ट सिटी के अफसरों द्वारा इसके सौंदर्यीकरण की बात कही जा रही है, जिस पर 120 करोड़ खर्च होंगे। अधिकारी इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर रहे हैं।

अनदेखी के चलते नाले में तब्दील हो गई स्वर्ण रेखा को साफ नदी में बदलने की घोषणा कई बार हुई और इस पर खर्च…

समाचार पात्र मैं पूरा पढ़ें

Leave a Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.