पियूष मिश्रा / PIYUSH MISHRA

पियूष मिश्रा / PIYUSH MISHRA

पियूष मिश्रा का जन्म 13 जनवरी 1963 को मध्य प्रदेश के विरासतों वाले शहर ग्वालियर में हुआ था। पीयूष मिश्रा को उनक पिता की बड़ी बुआ ने गोद लिया था, जिसके बाद उनका नाम प्रियाकान्त शर्मा था।

पीयूष मिश्रा ने अपनी पढाई कार्मेल कान्वेंट स्कूल, ग्वालियर से पूरी की है। बचपन से ही पीयूष सिंगिंग, पेंटिंग और एक्टिंग में दिलचस्पी रखते थे। उन्होंने ग्वालियर फाइन आर्ट्स कॉलेज मैं दाखिला तो लिया लेकिन एक्टिंग के शौक ने उन्हें नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा पहुंचा दिया।

शादी
पीयूष मिश्रा की शादी प्रिया नारायण से हुई, दोनों की मुलाकात वर्ष 1992 में हुई।

थियेटर/टेलीविजन
वर्ष 1986 में नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा से पास आउट होने के बाद पियूष ने दिल्ली में ही थियेटर करना शुरू कर दिया। फिल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले पियूष कई लोकप्रिय थियेटर स्टेज शोज का हिस्सा बने।

फिल्म्स
पीयूष मिश्रा ने हिंदी सिनेमा में कदम वर्ष 1998 में मणिरत्नम की फिल्म दिल से रखा, इस फिल्म में वह एक सीबीआई इन्वेस्टीगेशन ऑफिसर की भूमिका में नजर आये थे। इसके बाद उन्होंने कुछ खास फिल्मों का डायलोग भी लिखे। वर्ष 2001 मैं प्रसिद्द राजकुमार संतोषी ने पियूष मिश्रा को फिल्म “द लीजेंड ऑफ़ भगत सिंह ” की पटकथा लिखने का मौका दिया |

पीयूष को हिंदी सिनेमा में पहचान विशाल भारद्वाज की फिल्म मकबूल से मिली, इस फिल्म पियूष ने काका की भूमिका निभाई थी, जिसे क्रिटिक्स और दर्शकों ने बेहद सराहा। इसके बाद पियूष कई अन्य फिल्मों में नजर आये, जैसे गुलाल, गैंग ऑफ़ वासेपुर आदि।

प्रसिद्ध फ़िल्में
दिल से, मकबूल, एक दिन 24 घंटे, दीवार, झूम बराबर झूम, गुलाल,तेरे बिन लादेन, लफंगे परिंदे,लाहोर ,भिन्डी बाजार, रॉकस्टार, तमाशा, हैप्पी भाग जाएगी, हैप्पी फिर भाग जाएगी,पिंक,संजू

About The Author

Related posts

Leave a Reply